गुड और बैड टच के बारे में बच्चों को कैसे शिक्षित करें?

Reading Time: 3 minutes

कुछ महीने पहले, एक छोटी सी हंसमुख लड़की, जिसने अभी-अभी स्कूल जाना शुरू किया था, पेट में दर्द की अचानक शिकायत करने लगी और अगले दिन से स्कूल जाने से परहेज करने लगी। जब इस बात का आगे विश्लेषण हुआ तो उसके माता-पिता भयभीत हो गए, उन्हें पता चला कि उसके स्कूल के एक कर्मचारी ने उसके साथ दुर्व्यवहार किया है, और इस घटना का असर उसके स्कूल जाने के उत्साह पर परा। वह बच्ची अब स्कूल से अलग रहना चाहती थी। उसके माता-पिता तुरंत उसे आगे की जांच के लिए एक डॉक्टर के पास ले गए, और स्कूल प्रशासन से इस घटना के बारे में शिकायत की।

अब, यह हमारे समाज में एक अकेली घटना नहीं है। इन दिनों, जब भी आप टीवी पर समाचार चैनल पर स्विच करते हैं या सोशल मीडिया साइटों के माध्यम से ब्राउज़ करना शुरू करते हैं, तो आपको सभी उम्र के पीड़ितों पर यौन हमलों के कई घटनाओं के बारे में पता चलता हैं। ऐसी नीच मानसिकता वाले गुनहगार प्री-स्कूलों के बच्चों को भी नहीं बख्शते। माता-पिता के लिए यह आवश्यक हो गया है कि वे अपने बच्चों को प्री-स्कूलों के लिए नामांकन कराने से पहले अच्छे और बुरे टचबस के बारे में बताएं। यह उन्हें बाहरी लोगों के अनुचित आचरण को भापने में सहायक साबित होगा और भविष्य के शोषण से बचाने में मदद करेगा।

विभिन्न प्रकार के स्पर्श क्या हैं?

विभिन्न प्रकार के संपर्कों ’के बारे में अपने बच्चों को शिक्षित करने के लिए स्वतंत्र महसूस करें, जिनसे बाहरी दुनिया में कदम रखने के बाद उनका सामना हो सकता हैं। सामान्य तौर पर, ‘स्पर्श’ संचार का एक रूप है। यह या तो आपको अच्छा या असहज महसूस करा सकता है। एक दूसरे को छूने के कई तरीके हो सकतें है, जैसे हाथ मिलाना, पीठ थपथपाना, आशीर्वाद देना,पैर छूना या ‘प्रणाम’ (भारतीय संस्कृति में बहुत आम) माथे पर चुंबन, और यहां तक ​​की मारना भी हो सकता है। भोगने वाले पर पैदा होने वाली भावना के आधार पर, ‘टच’ को दो व्यापक शीर्षों के तहत वर्गीकृत किया गया है- ‘गुड टच’ और ‘बैड टच’। अब, इस प्रकार के आचरणों के बारे में विस्तार से बात करते हैं।

गुड टच: अच्छे स्पर्श आपको अच्छा, संरक्षित और सुरक्षित महसूस कराते हैं। यह एक दोस्त से हाथ मिलाने या शिक्षकों और अन्य बड़ों से पीठ थपथपाने के रूप में हो सकता है। यह बच्चों को दूसरों के साथ बंधन बनाने और सद्भाव की भावना बनाने में मदद करता है। बच्चे एक दूसरे के बीच भोजन को साझा करने के लिए, या एक बच्चे के कुछ उपलब्धि के लिए शिक्षक द्वारा माथे पर चुंबन भी अच्छे छूअन के उदाहरण हैं। हालांकि, इस बिंदु पर, यह बच्चों को ध्यान देने योग्य है कि उनका शरीर पूरी तरह से उनका है। हर मोर पर, उन्हें दोस्तों या बड़ों से किसी भी प्रकार के स्पर्श पर आपत्ति करने का अधिकार है।

बुरा स्पर्श: खराब स्पर्श, इसके विपरीत, आपको अपमानित और असहज महसूस कराता है। आप बुरे स्पर्श का अनुभव कर सकते हैं यदि कोई बाहरी व्यक्ति आपको पीटता है, आपके बालों को खींचता है, आपको लात मारता है, या आपके निजी अंगों जैसे छाती, नितंबों और जननांगों को छूता है। बच्चों को शरीर के निजी अंगों का अर्थ समझाना और उन्हें इस बात का एहसास कराना भी आवश्यक है कि केवल वे ही स्वच्छता का अभ्यास करते हुए उन क्षेत्रों को छू सकते हैं। यह बहुत स्पष्ट करें कि माता-पिता को भी निजी अंगों को नहीं छूना चाहिए जब बच्चे अपने शरीर की देखभाल करने में सक्षम हो जाते हैं। बुरे स्पर्श का अर्थ बताते हुए, ध्यान दें कि बच्चे दूसरों के बारे में अनावश्यक रूप से सचेत या भयभीत न हों।

बुरे स्पर्श का अनुभव होने पर बच्चों को क्या करना चाहिए?

बुरे स्पर्शों की व्याख्या करते हुए, यह भी बच्चों को निर्देशित करे कि उन्हें अवांछित आचरण का अनुभव होने पर कार्रवाई करने के लिए क्या करना चाहिए। बच्चों के साथ मैत्रीपूर्ण संबंध बनाए रखने की कोशिश करें ताकि वे आपके दिनभर के अनुभवों को आप तक पहुंचा सकें। किसी भी प्रकार के बुरे स्पर्श पर आपत्ति जताना और जोर से चिल्लाना आवश्यक है ताकि आस-पास के अन्य लोग, गुनहगार द्वारा अवांछित व्यवहार से अवगत हो सकें। यदि बच्चों को एकांत क्षेत्र में इन अवांछित व्यवहारों का अनुभव होता है, तो उन्हें तुरंत उस व्यक्ति से दूर भागना चाहिए और किसी सार्वजनिक जगह पर चले जाना चाहिए। बच्चों को मौन नहीं रहना चाहिए; उन्हें अपने अनुभव के बारे में स्कूल या अन्य सार्वजनिक स्थानों पर अपने कक्षा शिक्षक या देखभाल करने वाले विश्वसनीय लोगों को सूचित करना चाहिए। ये अवांछित व्यवहार गुनहगार की गलती होती हैं; उन्हें खुद को किसी भी तरह से इन घटनाओं के लिए दोषी नहीं मानना ​​चाहिए।

यह अच्छे और बुरे स्पर्श का संक्षिप्त विवरण था। इन अनुभवों के बारे में अपने जीगर के टुकड़ो को शिक्षित करें, ताकि वे विभिन्न प्रकार के ’संपर्कों के बारे में अंतर कर सकें और सुरक्षित रह सके।

Write your comments

%d bloggers like this: